फीडबैक किसे कहते हैं? | Feedback Kise Kahate Hain

फीडबैक किसे कहते हैं Feedback Kise Kahate Hain: आपने कभी ना कभी तो फीडबैक का नाम तो जरुर सुना होगा लेकिन आपने यह कभी सोचा है कि यह फीडबैक किसे कहा जाता है | क्योंकि हमने देखा है कि बहुत सारे भारतीय लोग फीडबैक के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं रखते हैं|

यदि आपको यह नहीं पता है कि फीडबैक किसे कहते हैं और इसका क्या कार्य है | आपको यह लेख जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि इस लेख में विस्तार के साथ यह साझा किया गया है कि फीडबैक क्या है फीडबैक के प्रकार कितने हैं इत्यादि|

विस्तार के साथ आपको यह पता चल जाएगा की फीडबैक में क्या लिखा जाता है | फीडबैक कैसे लिखते हैं तो चलिए यह जानते हैं कि फीडबैक किसे कहते हैं|

फीडबैक किसे कहते हैं? | Feedback Kise Kahate Hain

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
फीडबैक किसे कहते हैं Feedback Kise Kahate Hain
फीडबैक किसे कहते हैं Feedback Kise Kahate Hain

फीडबैक किसी व्यक्ति के द्वारा किए गए कार्य का आकलन करना और उसे कार्य की तारीफ करना या कमियां निकलना फीडबैक कहलाया जाता है|

वर्तमान समय में हर व्यक्ति के लिए फीडबैक की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण होती है | जब आपको किसी व्यक्ति के द्वारा फीडबैक दिया जाता है तो आप अपने काम में और भी ज्यादा सुधार ला सकते हैं|

जब किसी बढ़िया व्यक्ति के द्वारा आपको फीडबैक दिया जाता है उसे फीडबैक के द्वारा बताई गई बातों पर सही प्रकार से काम करके अपने काम को और बेहतर बना सकते हैं। यह हमारे भविष्य में महत्वपूर्ण निर्णय लेने की शक्ति देता है|

अधिक लोगों के दिए गए फीडबैक के आधार पर यदि आप अपनी कंपनी या किसी कार्य में सुधार लाते हैं तो यह आपके लिए और ज्यादा बेहतर बना देता है। कुछ दिन के बाद आपको इसका रिजल्ट ही देखने को मिल जाता है|

हर व्यक्ति के फीडबैक का सही उपयोग करके अपने प्रदर्शन में लगातार सुधार किया जा सकता है | लेकिन आपको यह समझना होगा कि आपको फीडबैक देने वाला व्यक्ति किसी बढ़िया पोस्ट पर हो|

फीडबैक कितने प्रकार के होते हैं?

फीडबैक निम्नलिखित दो प्रकार के होते हैं जैसे की –

  • सकारात्मक फीडबैक
  • नकारात्मक फीडबैक

सकारात्मक फीडबैक |

जब व्यक्तियों के द्वारा आपके द्वारा किए गए कार्य की लगातार तारीफ की जाए उसे सकारात्मक फीडबैक कहते हैं|

नकारात्मक फीडबैक |

यदि आपके द्वारा लंबे समय से कोई कार्य किया जा रहा है लेकिन आपके कार्य में कोई व्यक्ति कमी निकाल देता है और आपको उसे कार्य को सही करने के लिए कहा जाता है उसे नकारात्मक फीडबैक कहते हैं|

फीडबैक में क्या लिखा जाता है?

यदि आप किसी व्यक्ति को फीडबैक देना चाहते हैं तो आपको उसे व्यक्ति के किए गए कार्य की अच्छी जानकारी होनी चाहिए तभी आप किसी अन्य व्यक्ति को अपना फीडबैक दे सकते हैं|

यदि सामने वाले व्यक्ति का आपको कार्य बढ़िया लगा है तो आपको उसे व्यक्ति के द्वारा किए गए कार्य की तारीफ करनी होगी और उसे व्यक्ति को पॉजिटिव बातें बतानी होगी। जब आपके द्वारा पॉजिटिव बातें बताई जाती हैं तब उसे व्यक्ति में और भी ज्यादा सकारात्मक ऊर्जा आती है|

लेकिन इसके विपरीत यदि किसी व्यक्ति का कोई कार्य सही नहीं है तो आपको कभी भी उसे व्यक्ति का मनोबल तोड़ना नहीं चाहिए।

लेकिन ऐसी स्थिति में आपको उसे व्यक्ति को ज्यादा से ज्यादा समझना चाहिए ताकि वह व्यक्ति अपना मनोबल नहीं तोड़ सके। आपको उसे व्यक्ति की सभी समस्याओं का हल निकाल कर देना है यह नकारात्मक फीडबैक कहलाता है|

किसी को फीडबैक कैसे दे सकते हैं?

यह तो हर किसी व्यक्ति के मन में सवाल चल रहा होता है कि किसी अन्य व्यक्ति को किस प्रकार से फीडबैक दे |

यदि आप कुछ समय से ऑनलाइन कोर्स कर रहे हैं और आपने उसे कोर्स के जरिए कुछ नए स्किल सीखे हैं तो आपकी जॉब नई स्किल के जरिए लग सकती है|

अब आपको ऑनलाइन कोर्स बनाने वाले व्यक्ति या किसी कंपनी को आपको इस प्रकार से फीडबैक देना होगा|

फीडबैक किसे कहते हैं Feedback Kise Kahate Hain
फीडबैक किसे कहते हैं Feedback Kise Kahate Hain

“हेलो मास्टर, आपके द्वारा साझा किया गया ऑनलाइन कोर्स मैंने कुछ समय पहले ही खरीदा था। इस कोर्स में अपने कितनी बढ़िया तरीके से समझाया है कि मैं कुछ नहीं स्किल सीख चुका हूं। इन नई स्किल को सीख कर मैंने एक नई जॉब हासिल की है।

मैं यही चाहता हूं कि आप सदैव इसी प्रकार से काम करते रहें ताकि हम जैसे व्यक्तियों की जिंदगी संभल सके|

लेकिन आपको किसी कंपनी या व्यक्ति को नकारात्मक फीडबैक देना है तो सामने वाले व्यक्ति के काम या प्रोडक्ट के बारे में सही कमियां की लिस्ट बताते हुए उनमें सुधारात्मक व उपचारात्मक सुझाव देना चाहिए ताकि वह कंपनी या व्यक्ति उनमें अपने द्वारा सुधार कर सके|

आपको किसी कंपनी या व्यक्ति को फीडबैक देते समय निम्नलिखित बातों पर ध्यान देना चाहिए जैसे की –

  • आपके द्वारा फीडबैक स्पष्ट, सरल भाषा में समझाते हुए लिखना चाहिए|
  • एक अच्छे कमेंट के साथ फीडबैक की शुरुआत सदैव करनी चाहिए|
  • सभी नतीजे के बारे में एक-एक करके वर्णन करते हुए फीडबैक देना चाहिए|
  • आपके द्वारा यदि नेगेटिव फीडबैक दिया जाता है तो उसे नेगेटिव फीडबैक को समझाते हुए समाधान व निदान पर अपने सुझाव दिए जाने चाहिए|
  • हमेशा नेगेटिव फीडबैक को सलाह के रूप में लिखा जाना चाहिए |

More to ask | फीडबैक किसे कहते हैं?

Read More: सीताफल किसे कहते है? | Sitafal Kise Kahate Hain


फीडबैक का क्या मतलब होता है?

फीडबैक का मतलब किसी व्यक्ति के द्वारा आपके किए गए कार्यों का आकलन करना फीडबैक कहलाता है जब कोई व्यक्ति आपके कार्य की तारीफ कर रहा है तो आपको सकारात्मक फीडबैक दे रहा है |

लेकिन वही जब कोई व्यक्ति आपके द्वारा किए गए कार्य की कमियां निकाल रहा है तो यह आपको नकारात्मक फीडबैक मिल रहा है|


फीडबैक में क्या लिखना पड़ता है?

फीडबैक में सामने वाले व्यक्ति के किए गए कार्य का पूरी तरह आकलन करना होता है | और आपको यह स्पष्ट करना होता है कि यह कार्य पूरी तरह सही है या फिर नहीं|


फीडबैक कितने प्रकार का होता है?

जब व्यक्ति आपके अपके द्वारा किए गए कार्य की प्रशंसा या कमियां निकाल रहे हैं यह फीडबैक चलाया जाता है | फीडबैक निम्नलिखित दो प्रकार का होता है|


फीडबैक किसे कहते हैं? | अंतिम दो लाइन

हमारे द्वारा साझा की गई सामग्री में आपको फीडबैक किसे कहते हैं इससे जुड़ी हुई जानकारी मिलेगी | क्योंकि हमने देखा है कि बहुत सारे लोग यह तक नहीं जानते हैं कि फीडबैक किसे कहते हैं और फीडबैक कितने प्रकार का होता है|

यदि आप हमारे द्वारा लिखा हुआ यह लेख विस्तार के साथ पढ़ते हैं तो आपको पता चल जाएगा कि फीडबैक कैसे लिखते हैं और फीडबैक किस प्रकार के साथ दिया जाता है क्योंकि हमने विस्तार के साथ इस लेख में यह समझाया है|

1 thought on “फीडबैक किसे कहते हैं? | Feedback Kise Kahate Hain”

Leave a Comment