घर बैठे कोटेदार की शिकायत कैसे करें? | मात्र 2 मिनट में

Kotedar Ki Sikayat Kaise Darj Kare: यदि आपके क्षेत्र में कोई ठेकेदार अपनी मनमानी कर रहा है और सही प्रकार से किसी कार्य को नहीं कर रहा है या फिर आपके साथ किसी भी प्रकार का कोई गलत व्यवहार कर रहा है तो आप उसे ठेकेदार की शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

अधिकतर व्यक्तियों का यह सोचना होता है कि ठेकेदार के खिलाफ किस प्रकार से शिकायत दर्ज कर सकते हैं, क्या ठेकेदार के खिलाफ शिकायत करने में लंबा प्रोसेस लगता है, यदि आपके जीवन में इस प्रकार के सवाल चल रहे हैं।

इसलिए आपको यह पता होना चाहिए कि किसी भी ठेकेदार के खिलाफ शिकायत दर्ज करना बहुत ही आसान हो चुका है क्योंकि भारत सरकार ने कई सारे आपको ऑप्शन दिए हैं जिनके जरिए आप ठेकेदार के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

क्योंकि कई बार देखा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में ठेकेदार लोगों के साथ राशन देने में गलत व्यवहार करते हैं तथा उनके साथ हाथापाई भी करते हैं, यदि आप भी इन्हीं दिक्कतों का सामना कर रहे हैं तो आप अपने ग्रामीण क्षेत्र के ठेकेदार के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते हैं।


ठेकेदार के खिलाफ शिकायत कैसे दर्ज करें? | Kotedar Ki Sikayat Kaise Kare

ठेकेदार के खिलाफ शिकायत दर्ज करना आज के समय में बहुत ही आसान हो गया है क्योंकि भारत सरकार ठेकेदार की मनमानी के खिलाफ उसे कार्रवाई करती है, यदि लंबे समय से आप भी अपने गांव के ठेकेदार से बहुत ज्यादा परेशान है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
Kotedar Ki Sikayat Kaise Darj Kare
Kotedar Ki Sikayat Kaise Darj Kare

यदि आपके साथ ठेकेदार गलत व्यवहार करता है तो आप ठेकेदार की शिकायत कई प्रकार से कर सकते हैं, ठेकेदार की शिकायत आप कुछ कर्मियों के चलते भी कर सकते हैं जैसे की –

👉 राशन की दुकान पर सूचना बोर्ड ना होने पर ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं।

👉 ठेकेदार की गलत व्यवहार के चलते आप उसे पर कार्रवाई कर सकते हैं।

👉 ठेकेदार अपनी मनमानी कर रहा है तो आप उसकी शिकायत कर सकते हैं।

👉 ठेकेदार आपको राशन काम देता है तो आप उसे ठेकेदार की शिकायत कर सकते हैं।

👉 ठेकेदार आपके साथ हाथापाई कर रहा है तो आप इस कंडीशन में भी ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं।

👉 जल्दी ही दुकान बंद करने पर आप ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं।

👉 ठेकेदार के नाश करने पर भी आप उसके खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं।

यदि आप अपने गांव के क्षेत्र में इनमें से किसी भी एक परेशानी को सह रहे हैं तो आप उसे व्यक्ति की शिकायत कर सकते हैं, हालांकि ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकतर व्यक्ति अपनी अलग-अलग परेशानियों के चलते ठेकेदारों से बहुत ज्यादा परेशान रहते हैं।

यदि आप भी किसी न किसी कारण ठेकेदार से बहुत ज्यादा परेशान है तो आप उसे व्यक्ति की शिकायत ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों प्रकार से कर सकते हैं तो चलिए ठेकेदार की शिकायत करते हैं।


ठेकेदार की लिखित शिकायत कैसे दर्ज करें?

यदि आप अपने क्षेत्र के ठेकेदार के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अपने क्षेत्र के जिला पूर्ति अधिकारी के कार्यालय में जाकर शिकायत दर्ज करानी होगी।

लेकिन आपके पास ठेकेदार के खिलाफ सबूत या दस्तावेज जरूर होने चाहिए ताकि आप जिला पूर्ति अधिकारी के कार्यालय में पेश कर सके तभी ठेकेदार के खिलाफ ठोस कार्रवाई हो सकती है।

लेकिन यदि आप ठेकेदार की शिकायत प्रशासन से करना चाहते हैं तो आपको अपने क्षेत्र के एसडीएम के पास लिखित तौर पर शिकायत करनी होगी उसके लिए।

आपको एसडीम ऑफिस जाना होगा जहां पर आपको शिकायत जमा करनी होगी, बाद में एसडीएम आपकी शिकायत को देखकर ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करना शुरू कर देता है।

आपकी शिकायत को देखकर यदि एसडीएम भी इग्नोर कर देता है या कोई कार्रवाई नहीं करता तो आप अपनी कार्रवाई जिला अध्यक्ष जाने की जिला कलेक्टर के पास भी कर सकते हैं।

जिला कलेक्टर के पास अपनी शिकायत पहुंचने के लिए आपको एक लेटर लिखना होगा और उसे लेटर को जिला कलेक्टर के कार्यालय में जाकर दर्ज करा देना है ताकि ठेकेदार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो सके।

घर बैठे पटवारी की शिकायत कैसे करें?

ठेकेदार की ऑनलाइन शिकायत कैसे दर्ज करें?

अपने ठेकेदार के खिलाफ कई सारी ऑफलाइन शिकायत करी है लेकिन कोई भी सुनवाई नहीं हो रही तो आपको ठेकेदार की शिकायत ऑनलाइन दर्ज करनी होगी।

क्योंकि ठेकेदार की ऑनलाइन शिकायत दर्ज करना बेहद आसान होता है क्योंकि भारत सरकार ने अलग-अलग वेबसाइट जारी की है ताकि ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके।

👉 आपको अपने मोबाइल फोन में या फिर पीसी में गूगल क्रोम ओपन करना होगा।

👉 अब आपको अपने गूगल क्रोम पर FCS UP लिखकर सर्च करना होगा।

👉 आपको FCS UP की ऑफिशल वेबसाइट को क्लिक करना होगा।

👉 अब आपके सामने इस वेबसाइट का होम पेज ओपन हो जाएगा।

👉 इस वेबसाइट के होम पेज पर आपको ऑनलाइन शिकायत दर्ज करें का एक विकल्प दिखाई देता है उसे आपको क्लिक करना है।

👉 अब आपके सामने एक पॉप अप पेज ओपन हो जाएगा उसमें आपको अपनी शिकायत दर्ज करे का विकल्प दिखाई देगा आपको उसके ऊपर क्लिक करना है।

👉 अब आपके सामने एक नया फॉर्म ओपन हो जाएगा जिसमें आपको सही प्रकार से आवश्यक जानकारी दर्ज करनी होगी।

👉 आवश्यक जानकारी दर्ज करने के बाद आपको अंत में कैप्चा कोड दिखाई देता है उसे सही प्रकार से आपको भरकर दर्ज करें के बटन पर क्लिक करना होगा।

इस प्रकार से आप अपने क्षेत्र के ठेकेदार के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं यह ऑनलाइन शिकायत दर्ज करना ठेकेदार के खिलाफ बहुत ही आसान होता है और साथ से 15 दिन के अंदर ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई होना शुरू हो जाती है।

जीएसटी चोरी की शिकायत कैसे करें?

ठेकेदार के खिलाफ टोल फ्री नंबर के जरिए कैसे शिकायत दर्ज करें?

यदि कोई ठेकेदार अपनी मनमानी कर रहा है या ग्राहकों के साथ मारपीट कर रहा है तो भारत सरकार ने ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए टोल फ्री नंबर जारी कर रखे हैं जिनकी सहायता से हर व्यक्ति ठेकेदार के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकता है।

आपको ठेकेदार के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के लिए हमारे द्वारा हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है जिस पर आप कॉल करके ठेकेदार के खिलाफ शिकायतें दर्ज कर सकते हैं।

👉 आपको सबसे पहले 18001800150 या 1967 टोल फ्री नंबर पर कॉल करना होगा।

👉 आपके द्वारा इस टोल फ्री नंबर पर कॉल की जाती है तो कस्टमर केयर अधिकारी आपसे बात करते हैं।

👉 कस्टमर केयर अधिकारी आपसे कुछ मुख्य जुड़े हुए सवाल पूछते हैं जिनके बारे में आपको सही प्रकार से बताना है।

👉 बाद में आपको अपनी परेशानी उसे ठेकेदार से जो हो रही है उसे बताना है।

आपके द्वारा बताते ही ठेकेदार के खिलाफ कस्टमर केयर अधिकारी शिकायतें दर्ज कर लेते हैं और कुछ दिन के बाद जांच पड़ताल शुरू कर देते हैं यदि ठेकेदार दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्यवाही होना शुरू हो जाती है।


अपनी शिकायत की स्थिति कैसे देखें?

अगर आपने ऑनलाइन ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई कर रखी है और आपको यह देखना है कि आपके द्वारा की गई कार्रवाई पर सुनवाई हो रही है या नहीं तो आप ऑनलाइन अपनी शिकायत देख सकते हैं शिकायत देखने के लिए आपको निम्न तरीके फॉलो करने होंगे।

👉 सबसे पहले आपको https://fcs.up.gov.in/ की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा।

👉 अब आपको इस वेबसाइट पर ऑनलाइन शिकायत करें, का विकल्प दिखाई देता है उसे विकल्प पर क्लिक करें।

👉 अब आपके सामने एक पॉपअप हो जाएगा, उसमें आपको शिकायत की वर्तमान स्थिति देखने के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

👉 अब आपके सामने एक और नया पेज ओपन हो जाएगा जहां पर आपको अपनी शिकायत संख्या डालनी होगी।

👉 शिकायत संख्या को डालते ही आप अपनी शिकायत की जानकारी देख सकते हैं।


FAQ| घर बैठे कोटेदार की शिकायत कैसे करें?

अतिक्रमण की शिकायत कैसे करें?

Q. ठेकेदार की शिकायत कहां की जाती हैं?

A. ठेकेदार की शिकायत आप ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों प्रकार से कर सकते हैं।


Q. ठेकेदार शिकायत हेल्पलाइन नंबर क्या है?

A. ठेकेदार शिकायत हेल्पलाइन नंबर 18001800150 अथवा 1967 यह हैं।


Q. ठेकेदार का कोट कैसे हटा सकते हैं?

A. यदि ठेकेदार कोई गलती नहीं करता तो उसे ठेकेदार से आपको हटा नहीं हटा सकते हैं, लेकिन ठेकेदार आपके साथ कोई गलती करता है तो आप ठेकेदार के खिलाफ शिकायत करके उसका कोटा हटा सकते हैं।


Q. ठेकेदार के खिलाफ शिकायत करने के बाद कितने दिन में कार्रवाई हो जाती है?

A. भारत सरकार के द्वारा ठेकेदार के खिलाफ 7 दिन से लेकर 15 दिन के भीतर हो जाती है।


Conclusion | घर बैठे कोटेदार की शिकायत कैसे करें?

यदि आपने इस लेख को सही प्रकार से पढ़ा है तो आपको पता चल गया होगा कि ठेकेदार की शिकायत कैसे दर्ज करते हैं क्योंकि अक्सर देखा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में बहुत सारे व्यक्ति ठेकेदारों से बहुत ज्यादा परेशान रहते हैं।

इसीलिए ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले व्यक्ति अपने क्षेत्र के ठेकेदार की शिकायत ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों प्रकार से करते हैं लेकिन कोई भी सुनवाई नहीं होती है तो वह टोल फ्री नंबर के जरिए भी शिकायत करते हैं ताकि ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई हो सके।

यदि आप भी किसी ठेकेदार से बहुत ज्यादा परेशान है तो आप हमें कमेंट बॉक्स के जरिए बता सकते हैं ताकि हम आपकी कुछ मदद कर सकें और उसे ठेकेदार के खिलाफ कुछ ठोस कार्रवाई कर सकें धन्यवाद।

1 thought on “घर बैठे कोटेदार की शिकायत कैसे करें? | मात्र 2 मिनट में”

Leave a Comment