समाजवादी की बाइबल किसे कहते हैं? | Samajwadi ki bible kise Kahate Hain

Samajwadi ki bible kise Kahate Hain: अपने अपने जीवन में बहुत सारी किताब जरुर पड़ी होंगे लेकिन क्या आपको पता है समाजवादी की बाइबल किसे कहते हैं | क्योंकि बहुत सारे ऐसे व्यक्ति हैं जिनको यह नहीं पता है कि समाजवादी की बाइबल किसे कहते हैं|

यदि आपको भी यह नहीं पता है कि समाजवादी की बाइबल किसे कहते हैं और आप यह जानना चाहते हैं कि समाजवादी की बाइबल किसे कहते हैं |

तो आपको जरूर जानना चाहिए इस लेख में आपको समाजवादी की बाइबल से जुड़ी हुई बहुत सारी जानकारी विस्तार से मिलने वाली है|


समाजवादी की बाइबल किसे कहते हैं? | Samajwadi ki bible kise Kahate Hain

समाजवादी की बाइबल कार्ल मार्क्स के द्वारा लिखी गई पुस्तक दास कैपिटल को कहते हैं | इस किताब को सन 1867 में लिखा गया था। इस समाजवादी की बाइबिल में समाज से जुड़े हुए बहुत सारे सिद्धांतों के बारे में जानकारी लिखी हुई है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

एक समाज में किस प्रकार से अंदर राजनीतिक संबंध सम्बन्धों, आर्थिक सम्बन्धों, तथा सामाजिक संबंधों के सिद्धांत मुख्य माने जाते हैं |

दास कैपिटल के द्वारा आधुनिक समन्वयवाद सिद्धांतों पर भी यह आधारित है। इस पुस्तक के प्रकाशन होने के कुछ साल के बाद ही रूस जैसे बड़े देशों में साम्यवादी क्रांति शुरू हो गई थी|


दास कैपिटल किताब (समाजवादी की बाइबल) क्या है?

दास कैपिटल यह शब्द जर्मन भाषा से लिया गया है इस शब्द को हिंदी में अर्थ पूंजी कहते हैं। इस किताब को पहली बार 1867 में कार्ल मार्क्स के द्वारा लिखा गया था|

इस पुस्तक यानी कि समाजवादी की बाइबल के तीन खंड लिखे गए हैं जिसमें पहला खंड खुद ही कार्ल मार्क्स द्वारा सन् 1867 में लिखा गया था|

वही इस समाजवादी की बाइबिल का दूसरा खंड सन 1885 में लिखा गया था साथ ही इस पुस्तक का तीसरा एवं लास्ट खंड सन 1894 में कार्ल मार्क्स के करीबी दोस्त फ़्रेडरिक एंगेल्स के द्वारा लिखा गया था|

दास कैपिटल (समाजवादी की बाइबल) को कैपिटल के नाम से भी जाना जाता है इस किताब को आप आसानी के साथ अमेजॉन, फ्लिपकार्ट इत्यादि ऑनलाइन दुकानों से खरीद सकते हैं।


FAQs | समाजवादी की बाइबल किसे कहते हैं?

ज्ञान आधारित समाज किसे कहते हैं? 

Q. समाजवादी की बाइबल किस किताब को कहा जाता है?

A. समाजवादी की बाइबल दास कैपिटल को कहा जाता है।


Q. डाक कैपिटल के कितने भाग हैं?

A. डाक कैपिटल के कुल तीन भाग हैं।


Q. दास कैपिटल नामक पुस्तक के लेखक कौन थे?

A. दास कैपिटल नामक पुस्तक के लेखक कार्ल मार्क्स हैं।


Q. बाइबल की किताब के लेखक कौन है?

A. बाइबल की किताब के लेखक कार्ल मार्क्स हैं।


Q. दास कैपिटल का प्रकाशन किस वर्ष में हुआ था?

A. दास कैपिटल का प्रकाशन सन 1867 में हुआ था।


Q. दास कैपिटल किसकी लिखी हुई किताब है?

A. दास कैपिटल कार्ल मार्क्स के द्वारा लिखी हुई किताब है।


Q. समाजवाद का जनक किसे कहा जाता है?

A. समाजवाद का जनक कार्ल मार्क्स को कहा जाता है।


Q. समाजवाद का क्या मतलब होता है?

A. समाजवाद अंग्रेज और फ्रांसीसी शब्द सोशलिज्म का एक हिंदी स्वरूप होता है।