Shikayat Patra Kaise Likhe? | मात्र 2 मिनट में

Shikayat Patra Kaise Likhe: कई बार देखा गया है कि ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोग अलग-अलग कर्म से अपनी शिकायत दर्ज करना चाहते हैं लेकिन अधिकतर लोगों को यह पता नहीं होता है की शिकायत किस प्रकार से दर्ज की जाती है और किस प्रकार के साथ लिखी जाती है।

यदि आप भी किसी व्यक्ति के खिलाफ कुछ कारणों के चलते शिकायत दर्ज करना चाहते हैं, लेकिन आपको यह नहीं पता है कि शिकायत पत्र किस प्रकार से लिखा जाता है और किसको लिखा जाता है।

आपको यह पता होना चाहिए कि हिंदी में शिकायत पत्र लिखना बेहद आसान होता है, यदि आप किसी के खिलाफ शिकायत दर्ज करना चाहते हैं तो हम आपको बताते हैं कि आप हिंदी में शिकायत पत्र कैसे लिख सकते हैं।


शिकायत पत्र लिखने का तरीका क्या होता हैं? | Shikayat Patra Kaise likhe

अक्सर हमें समय-समय पर बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है परेशानियों से बचने के लिए हम शिकायत पत्र लिखते हैं लेकिन जब हमें यह नहीं पता होता है की शिकायत पत्र किस प्रकार लिखा जाता है, तो हम फिर शिकायत पत्र नहीं लिख पाते हैं।

लेकिन आज हम आपको इस लेख में बेहद आसान तरीका बताने वाले हैं जिसके जरिए आप हर व्यक्ति को हिंदी में लेटर लिख सकती है, इसी प्रकार से आप शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
Shikayat Patra Kaise Likhe
Shikayat Patra Kaise Likhe

इस प्रकार से आपको अपनी शिकायत सही प्रकार से लिख लेनी है और जिस विभाग में आपको अपनी शिकायत पहुंचानी है उसे विभाग के कार्यालय में आपको यह पत्र जमा करा देना है ताकि आपकी शिकायत पर कार्रवाई हो सके।


शिकायत पत्र में क्या-क्या लिखा जाता है?

शिकायत पत्र लिखते समय हमें कई बातों पर विशेष ध्यान देना पड़ता है तब जाकर हम एक पत्र लिख पाते हैं, यदि हम बेहद आसान तरीके से हिंदी में पत्र लिखते हैं तो अधिकतर अधिकारी उसे खारिज कर देते हैं और उसे पर करवाई करना पसंद नहीं करते हैं।

इसीलिए आपको कुछ विशेष बातों पर बहुत ज्यादा ध्यान देना होगा यदि आप किसी कार्यालय के लिए हिंदी में पत्र लिख रहे हैं तो चलिए जानते हैं किन-किन बातों पर ध्यान देना चाहिए।

प्राप्तकर्ता – शिकायत पत्र लिखते समय आपको सबसे पहले प्राप्त करता का नाम, उसका पद और पता इत्यादि जरूर लिखना चाहिए, और आप किस व्यक्ति को शिकायत दर्ज करवाना चाहते हैं।

अपना परिचय – आप यदि हिंदी या इंग्लिश में पत्र लिख रहे हैं तो आपको कभी भी अपने पत्र में अपना परिचय लिखना नहीं भूलना चाहिए, अपना परिचय में आपको नाम, पिता का नाम, जाति, उम्र और पता इत्यादि लिखना होगा।

अपनी समस्या – आपको जिस व्यक्ति से समस्या हो रही है उसे व्यक्ति के बारे में सब जानकारी डिटेल से लिखनी होगी तथा आपको अपनी समस्या भी सही प्रकार से लिखनी होगी।

अपना पता – पत्र लिखते समय आपको सदैव अपना पता जरूर दर्ज करना चाहिए इससे आपकी पहचान पता चलती है कि आप कौन हैं और कहां के रहने वाले हैं।

जब आपके द्वारा सभी जानकारी सभी प्रकार से दर्ज हो जाती है तो फिर आपको एक बार और फिर से चेक जरूर करना चाहिए ताकि किसी भी प्रकार की कोई गलती ना रह सके।

अब आपको अपने द्वारा लिखा हुआ शिकायत पत्र उसे कार्यालय तक पहुंचना चाहिए जहां आप शिकायत करना चाहते हैं या फिर आप खुद ही उसे सरकारी कर्मचारी से मिलकर अपना शिकायत पत्र जमा कर सकते हैं।

घर बैठे कोटेदार की शिकायत कैसे करें?

शिकायत कहां पर लिखें?

कई बार देखा गया है कि बहुत सारे व्यक्तियों के मन में यह सवाल चल रहा होता है कि हमें अपनी शिकायत कहां पर और किस प्रकार लिखनी चाहिए, क्योंकि कई बार देखा गया है की शिकायत लिखते समय बहुत सारे व्यक्ति बहुत ज्यादा घबरा जाते हैं।

लेकिन आप कभी भी शिकायत पत्र लिख रहे हैं तो आपको कभी भी घबराना नहीं चाहिए और शिकायत पत्र लिखने के लिए आपके पास एक फैन और सफेद पेपर जरूर होना चाहिए, तभी आपकी शिकायत मान्य होगी।

घर बैठे पटवारी की शिकायत कैसे करें?

शिकायत पत्र कैसे भेजते हैं?

यदि आपने किसी व्यक्ति के खिलाफ शिकायत पत्र लिखकर रखा है लेकिन आपको यह नहीं पता है की शिकायत पत्र कहां और किसी भेजना होता है, जब आप किसी व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं तो आपको अपनी शिकायती से संबंधित अधिकारी के कार्यालय में जाकर शिकायत पत्र जमा कर देना चाहिए।

यदि आप इस स्थिति में नहीं है कि खुद जाकर शिकायत पत्र अधिकारी के कार्यालय में पहुंच सके तो आप स्पीड पोस्ट के माध्यम से भी अपनी पत्र को अधिकारियों के पास भेज सकते हैं ऐसा करते ही अधिकारी आपकी शिकायत के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर देंगे।


जीएसटी चोरी की शिकायत कैसे करें?

Conclusion | Shikayat Patra Kaise Likhe?

यदि आपने इस लेख को सही प्रकार से पढ़ा है तो आपको पता चल गया होगा कि शिकायत पत्र कैसे लिखते हैं, क्योंकि अक्सर लोगों को शिकायत पत्र लिखना नहीं आता है यदि कुछ लोग शिकायत पत्र लिख लेते हैं तो वह यह पता नहीं करवा पाते हैं कि यह शिकायत पत्र कहां और कैसे भेजा जाता है।

इस लेख के जरिए आपको यह सब कुछ पता चल गया होगा की शिकायत पत्र कहां और कैसे भेजा जाता है और आपको इस लेख को पढ़कर शिकायत पत्र लिखने में भी किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

2 thoughts on “Shikayat Patra Kaise Likhe? | मात्र 2 मिनट में”

Leave a Comment