योगासन किसे कहते हैं? | Yogasan Kise Kahate Hain, अर्थ, प्रकार, फायदे

Yogasan Kise Kahate Hain: क्या आप योगासन के बारे में सही जानकारी रखते हैं | यदि आप योगासन के बारे में सही जानकारी नहीं रखते हैं तो आपको जरूर रखनी चाहिए क्योंकि आज के समय में हर व्यक्ति अपनी हेल्थ को लेकर बहुत चिंतित रहता है|

अपनी हेल्थ को फिट रखने के लिए योगासन बहुत जरूरी होता है इसीलिए आपको योगासन क्या है और योगासन किसे कहते हैं |  योगासन की परिभाषा क्या है, योगासन का अर्थ क्या है, इस प्रकार के सभी सवालों के जवाब मालूम होने चाहिए|

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
Yogasan Kise Kahate Hain
Yogasan Kise Kahate Hain

लेकिन आज भी भारत में बहुत सारे ऐसे व्यक्ति हैं जिनको योगासन के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है | यदि आपको योगासन के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है तो आपको इस लेख में योगासन से जुड़े हुए बहुत सारे सवालों के जवाब विस्तार से मिलने वाले हैं|

योगासन किसे कहते हैं? | Yogasan Kise Kahate Hain

योगासन शब्द संस्कृत के दो शब्दों उसे और आसान से मिलकर बना हुआ है। इसमें युज का मतलब होता है “एकजुट होना” वही आसन का मतलब होता है “शरीर की मुद्राएं” होना|

जब हम सुबह-सुबह योगासन करते हैं तो इससे हमारे शरीर में अलग प्रकार की एनर्जी उत्पन्न होती है | करने से शरीर सुंदर, स्वस्थ और शुद्ध बन जाता है | मानव शरीर को स्वस्थ रखने के लिए अलग-अलग योग मुद्राएं करनी होती है इसी को योगासन कहते हैं|

योगासन भारत देश में प्राचीन काल से ही चला आ रहा है क्योंकि प्राचीन समय में योगासन ऋषि मुनि करते थे | हालांकि आज के समय में भारत देश में बहुत सारे ऐसे ऋषि मुनि है जो कि आज भी योगासन करते हैं उनमें सबसे प्रसिद्ध रामदेव बाबा है|

भारत देश के साथ-साथ बहुत सारे ऐसे देश हैं जो की योगासन को बहुत ही महत्व दे रहे हैं | क्योंकि योगासन करके अधिकतर व्यक्ति अपनी बीमारियों को खत्म कर देते हैं | आज बहुत सारी प्रतियोगिताओं में योगासन को खेल के रूप में शामिल किया गया है|

योगासन का अर्थ एवं परिभाषा क्या है?

योगासन का अर्थ होता है कि शरीर को स्वस्थ रखना योगासन विभिन्न प्रकार से किया जाता है | योगासन करने के बहुत सारे लाभ होते हैं | योगासन को योग मुद्रा नाम से भी जाना जाता है हालांकि भारत देश में योगासन को योग नाम से जाना जाता है|

योगासन के कितने प्रकार होते हैं?

योगासन के कुल चार प्रकार होते हैं जो की निम्नलिखित है|

  1. बैठकर किए जाने वाले योगासन
  2. पीठ के बल लेटकर किए जाने वाले योगासन
  3. पेट के बल लेटकर किए जाने वाले योगासन
  4. खड़े होकर किए जाने वाले योगासन

1. बैठकर किए जाने वाले योगासन के नाम क्या है?

पद्मासन, वज्रासन, सिद्धासन, मत्स्यासन, वक्रासन, अर्ध-मत्स्येन्द्रासन, गोमुखासन, पश्चिमोत्तनासन, ब्राह्म मुद्रा, उष्ट्रासन, आदि|

2. पीठ के बाल लाकर किए जाने वाले योगासन के नाम क्या है?

अर्धहलासन, हलासन, सर्वांगासन, विपरीतकर्णी आसन, पवनमुक्तासन, नौकासन, शवासन आदि|

3. पेट के बाल लाकर किए जाने वाले योगासन के नाम क्या है?

मकरासन, धनुरासन, भुजंगासन, शलभासन, विपरीत नौकासन आदि|

4. खड़े होकर किए जाने वाले योगासन के नाम क्या हैं?

ताड़ासन, वृक्षासन, अर्धचंद्रमासन, अर्धचक्रासन, दो भुज कटिचक्रासन, चक्रासन, पादहस्तासन आदि|

दैनिक जीवन में योगासन के क्या फायदे होते हैं?

दैनिक जीवन में योगासन के बहुत सारे फायदे होते हैं | जब कोई व्यक्ति सुबह योगासन करता है उसके शरीर में एक अलग ही प्रकार की ऊर्जा होती है वह पूरे दिन किसी प्रकार का काम करने से थकता नहीं है |

प्रतिदिन योगासन करने से शरीर का चहुमुखी विकास होता है | प्रतिदिन योगासन करने के बहुत सारे फायदे होते हैं जैसे कि आप नीचे की ओर देख सकते हैं|

  • शरीर हमेशा स्वस्थ रहता है |
  • मानसिक एवं शारीरिक शक्ति का विकास होता है |
  • चिंता से मुक्ति मिलती है |
  • शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है |
  • पूरे दिन व्यक्ति तरोताजा रहता है |
  • शरीर में लचिलापन आता है |
  • व्यक्ति ऊर्जावान रहता है |
  • एकाग्रता बढ़ती है |
  • मनुष्य की याददाश्त अच्छी होती है |
  • मनुष्य तनाव से मुक्त रहता है |
  • शरीर का वजन नियंत्रित एवं संतुलित रहता है |
  • शरीर में रक्त का संचरण सही होता है |
  • व्यक्ति को बढ़िया नींद आती है |
  • योगासन से शरीर के अंदर स्थित ग्रंथियां सही काम करती है |
  • पाचन क्रिया सुचारु रूप से काम करती है |
  • मांसपेसियों का विकास होता है |
  • शरीर पुष्ट, स्वस्थ एवं सुदृढ़ बनता है|

योगासन करने का सही तरीका क्या है?

योगासन किसी भी उम्र में किया जा सकता है। लेकिन जब तक आप योगासन को सही प्रकार से नहीं करते हैं तो आपको कोई भी बेनिफिट नहीं होगा|

लेकिन आपको योगासन करने का सही तरीका पता नहीं है तो इस लेख में हमने योगासन करने के सही एवं कारगर तरीके साझा किए हैं। जब कभी आप योगासन कर रहे हो तो आप इन बातों पर जरूर ध्यान दें|

1. शौच व स्नान करने के बाद ही योगासन करना चाहिए|

2. गर्भवती महिला को योगासन नहीं करना चाहिए | क्योंकि योगासन करने से मांसपेशियों में खिंचाव होता है|

3. गर्भवती महिला कुछ आसन योगासन कर सकती है जिससे मांसपेशियों में खिंचाव ना हो|

4. योगासन करने से पहले तथा योगासन खत्म करने के बाद थोड़ी देर अपने आप को आराम जरूर दें|

5. किसी भी योगासन को जबरदस्ती करने की कोशिश ना करें|

6. आपको कभी भी वह आसान नहीं करना चाहिए जिससे आपकी मांसपेशियों में ज्यादा खिंचाव हो|

7. योगासन करने के लिए खुला स्थान एवं हवादार होना चाहिए ताकि आपके पास शुद्ध वायु आ सके|

8. योगासन करते समय ढीले वस्त्र पहनने की कोशिश करें जिससे आपको किसी भी प्रकार की कोई भी समस्या का सामना न करना पड़े|

9. योगासन करने का स्थान समतल होता है। इसीलिए समतल स्थान पर आसान बेचकर ही योगासन करना चाहिए|

FAQs | योगासन किसे कहते हैं?

Read More: मार्शल योजना किसे कहते हैं? | Marshal Yojana Kise Kahate Hain

योग कितने प्रकार के होते हैं?

योग चार प्रकार के होते हैं|

योग का दूसरा नाम क्या है?

योग का दूसरा नाम योगफल जोड़, तथा नियमन है|

योगासन के जनक कौन हैं?

योगासन के जनक महर्षि पतंजलि है|

योग के पिता का नाम क्या है?

योग के पिता का नाम महर्षि पतंजलि है|

योगासन की खोज कब हुई थी?

योगासन की खोज 5000 साल पहले हुई थी|

भारत के योग गुरु कौन हैं?

भारत के योग गुरु परमहंस योगानंद है | यह भारत के पहले योग गुरु हैं|